बिहार की परीक्षाये

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति मैट्रिक और इंटर की वार्षिक परीक्षा समेत सभी परीक्षाओं के लिए अपनी व्यवस्था को और बेहतर करने की तैयारी कर रहा है। परीक्षा से पहले और बाद में आयोजित होनेवाली एक्टिविटी के लिए बिहार बोर्ड सॉफ्टवेयर अपग्रेड करने की योजना है ताकि छात्रों तथा स्कूलों को कोई दिक्कत न हो। सॉफ्टवेयर के डिजाइन और डेवलपमेंट के लिए एजेंसी की तलाश हो रही है। सॉफ्टवेयर ट्रिपल यू के कॉन्सेप्ट पर आधारित होगा, यानि यूजेबल, यूजर सेंट्रिक तथा यूनिवर्सिली एक्सेसिबल। परीक्षा के बाद डाटा प्रोसेसिंग तथा परीक्षा से पहले और बाद में आयोजित होनेवाली सारी एक्टिविटी के लिए सॉफ्टवेयर विकसित करने का काम एजेंसी करेगी। नई एजेंसी वर्तमान सिस्टम की समीक्षा करेगी। ऑनलाइन आवेदन के बाद फीस जमा के वक्त आनेवाली दिक्कतों से निजात की भी तैयारी है। पेमेंट गेटवे को एकीकृत किया जाएगा। फी कलेक्शन और मिलान की प्रक्रिया भी आसान होगी। किसी भी केस में सिस्टम दो बार पेमेंट की अनुमति नहीं प्रदान करे ऐसा सिस्टम विकसित किया जाएगा। टॉपिक्स पर मदद के लिए सर्च का विकल्प भी रहेगा।